देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया यानि LIC ने अडानी ग्रुप की कंपनियों में

क़रीब 20 हजार करोड़ रूपए निवेश किये थे, LIC ने अडानी इंटरप्राइजेज में अपने टोटल निवेश का 4.23% निवेश किया है

साथ में अडानी पोर्ट्स में LIC की 9.14% की हिस्सेदारी है, अडानी ट्रांसमिसन में 3.65% की हिस्सेदारी है, LIC की

अडानी ग्रुप की ग्रीन एनर्जी में क़रीब 1.28% की हिस्सेदारी है, अडानी टोटल गैस में भी LIC की 5.96% हिस्सेदारी है 

जब से हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट आई है तब से अडानी ग्रुप की सभी कंपनियों के शेयर्स में 60 फ़ीसदी से भी अधिक 

गिरावट हो चुकी है, ऐसे में LIC द्वारा अडानी की कंपनियों में निवेशित राशि में भी गिरावट हुई है. 27 जनवरी को LIC ने

बताया की उसने अडानी ग्रुप में जितना भी निवेश किया था वह उसके टोटल निवेश का 1 फ़ीसदी भी नहीं है. ऐसे में

बीते दिन इन्वेस्टमेंट फर्म की रिपोर्ट आई जिसमें बताया गया की LIC ने जितना भी निवेश किया था वह माइनस में हो चुका है.